Psychology of Support and Resistance Level Analysis in hindi: ट्रेडिंग में सपोर्ट एंड रेजिस्टेंस क्या है,जल्दी जान लीजिए वरना पछताओगे

Table of Contents

Psychology of Support and Resistance Level Analysis: Share Market में

काम करने वाले हर व्यक्ति को Support and Resistance Level Analysis के बारे

में जानकारी होना बहुत जरूरी है आज हम Support और Resistance के बारे में जानेंगे समझेंगे और सीखेंगे|

स्टॉक मार्केट यह Demand और supply पर चलता है, डिमांड बढ़ी तो भाव बढ़ेगा और

सप्लाई बड़ी तो भाव घटेगा जरूर हर बिजनेस में लागू होता है  Support और Resistance भी इसी रूल पर चलते हैं|

Support and Resistance Level Analysis-ट्रेडिंग में सपोर्ट एंड रेजिस्टेंस क्या है

शेयर बाजार में सपोर्ट और रजिस्टर के आधार पर कई सारे स्ट्रेटजी काम करती है जिस

किसी को चाट के ऊपर candle से बने pattern में सपोर्ट और रेजिस्टेंस को समझना

आ गया वह जरूर है शेयर बाजार से अच्छा profit कमा सकता है|

Share market में Support क्या है ?

Share market में किसी भी Share की कीमत बढ़ने और घटने के दरमियां एक ऐसी

Level होती है जो मजबूती से Share के कीमत को गिरने से रूकती है, यानी इस Level

के नीचे शेयर की कीमत नहीं गिरेगी इस Level को Share market में Support Level कहा जाता है |

जब चार्ट पर Support Level दिखाई देती है तब मार्केट में Demand ज्यादा होती है

जिस वजह से शेयर की प्राइस लगातार गिरने से रुक जाती है।

support-and-resistance-level-analysis-hindi-mePin

Share market में Resistance क्या होता है ?

Share market में जब भी शेयर की कीमत 1 Level पर आकर बढ़ने से रूकती है और

कम होने लगती हैं इस Level को Resistance Level  कहा जाता है।

जब भी Chart पर Resistance Level लगातार दिखाई देती है तब यह कहा जा सकता

है कि Share की Supply ज्यादा है। Supply ज्यादा होने के कारण है|

शेयर की कीमत तेरे से नहीं बढ़ पाती ऊपर दिखाई गई Image के जरिए Support

और Resistance Level क्या होता है यह बात साफ होती है ऊपर

Share की कीमत बढ़कर कम होने लगती है और इस लेवल के ऊपर शेयर की प्राइस

नहीं बढ़ पाती इस लेवल को रजिस्टेंस लेवल कहा जाता है|

 और दूसरी तरफ जब लगातार गिरने वाली प्राइस 1 लेवल से ऊपर उठने लगती है यानी

बढ़ने लगती है तब इस लेवल को सपोर्ट लेवल कहा जाता है|

Support and Resistance Level Analysis करते समय चार्ट पर इन चीजों को बारीकी से देखने की जरूरत होती है |

Benefits

  • Support and Resistance Level उस समय के महत्वपूर्ण बिंदु हैं जहां demand और supply की ताकतें मिलती हैं।
  • Technical Analysis के विशेषज्ञों की माने तो Support and Resistance Level  Analysis मार्केट के ट्रेंड को जानने का एक अच्छा तरीका है।
  •  सपोर्ट और रेजिस्टेंस के चलते मार्केट की डिमांड और सप्लाई की जानकारी मिलती है।
  •  किसी भी शेर को लेकर मार्केट की क्या साइकोलॉजि है यह जानने के लिए भी सपोर्ट और रेजिस्टेंस की काफी मदद होती है
  • शेयर मार्केट में ट्रेडिंग करते समय भी सपोर्ट और रेजिस्टेंस का सबसे बड़ा योगदान रहता है शेयर Buyओ sell करने की रणनीति में सपोर्ट रेजिस्टेंस बड़ा रोल प्ले करता है।

जैसे

Support वर्तमान बाजार मूल्य के एक पॉइंट नीचे है तो Buy का संकेत देता है।
Resistance वर्तमान बाजार मूल्य के एक पॉइंट ऊपर है तो Sell का संकेत देता है।

Support and Resistance Level Analysis के पीछे क्या Psychology होती है?

Support and Resistance Level के पीछे क्या Psychology होती हैये बात जानना

जरूरी है  क्योंकि अगर हम सायकोलॉजी को समझेंगे तो इस concept को अच्छे से

समझ कर हम इसे Apply कर पाएंगे|

जिससे हमारा प्रॉफिट भी अच्छे से होगा और हमारा ट्रेड करते टाइम कॉन्फिडेंस भी

बढ़ेगा क्योंकि कहा जाता है ना आधा ज्ञान अधूरा ज्ञान घातक होता है।

Support के पीछे क्या Psychology होती है?

support-and-resistance-level-analysis-hindi-mePin

Support और Resistance 1 पॉइंट कभी भी नहीं होता है यह एक zone होता है। सपोर्ट पर Greediness या लालच यह सायकोलॉजी वर्क करती है। और लालच के चलते मार्केट की demand बढाती है।

उदाहरण :- कोई शेयर हमने 100 Rs पर खरीदा है और वह बढ़कर 110 हो गया है और हमने प्रॉफिट भी बुक कर

लेंगे। इन फ्यूचर नेक्स्ट टाइम जब कभी भी वह ₹100 फिर से टच करेगा तब हमें

लालच आएगा कि हमने तो 100 पर लेकर 110 दिन sell  किया था तो अभी फिर से वह

100 से 110 हो सकता है।

और इस लालच में हम उसे बाय (buy)करना शुरू करते हैं यह बाय करने से मार्केट में

डिमांड बढ़ती है और डिमांड बढ़ने से शेयर का प्राइस भी सच में बढ़ता है।

Resistance के पीछे क्या Psychology होती है?

Resistance पर डर (Fear) साइकोलॉजी वर्क करती है। शेयर की प्राइस में लगातार रेजिस्टेंस निवेशकोके /ट्रेडर्स के डर को दर्शता है।

support-and-resistance-level-analysis-hindi-mePin

 इसे हम विस्तार से समझने की कोशिश करते हैं मानो कोई शेर हमने ₹100 पर खरीदा

है और उसका भाव  कुछ दिन बाद ₹80 हो गया  तो हम उसे लास्ट(loss) में तो नहीं

sell करेंगेResistance पर डर (Fear) साइकोलॉजी वर्क करती है।

शेयर की प्राइस में लगातार रेजिस्टेंस निवेशकोके /ट्रेडर्स के डर को दर्शता है।

 हम शेयर की प्राइस बढ़ने का वेट करेंगे और जब भी वह ₹100 आएगा तो हम उसे बेच

देंगे क्योंकि हमें अब हमारा भाव मिल गया जिसे हम मुद्दल Rate कहते हैं।

और हम इस डर के कारण यह शेर भेजते हैं और इस बिकवाली के कारण शेयर की कीमत सच में घटती है|

क्योंकि बेचने के कारण मार्केट में सप्लाई प्रेशर बना रहता है और यह शेयर की कीमत नीचे लाने के लिए कारण बनता है|

Support and Resistance Level Analysis कैसे करे?

Support and Resistance Level Analysis के लिए हमें सबसे पहले चार्ट को पढ़ना जरूरी होता है| चार्ट को देखने के लिए हमारी राइट हैंड साइड से हमें ग्राफ को देखना होता है|

ट्रेडर्स यह बात हमेशा ध्यान में रखेकी राइट हैंड साइड वर्तमान समय होता है और लेफ्ट साइड भुत का समय होता है| शेयर मार्केट में बीते हुए कल को कम वैल्यू होती है| शेयर मार्केट वर्तमान की खबरों पर चलता है और रियेक्ट करता है इस कारन राइट हैंड साइड से ग्राफ देखना होता है|

करंट प्राइस से "प्रीवियस लो" हम उसे सपोर्ट कह सकते हैं।

और करंट प्राइस से प्रीवियस है उसे हम रेजिस्टेंस कह सकते हैं| अगर हम http://tradingview.com का इस्तेमाल करते हैं।

Support and Resistance Level ढूंढने के लिए कोई रेडीमेड tool होता है ?

तो हमें सपोर्ट रेजिस्टेंस के लिए एक readymade Indicators भी वहां पर अवेलेबल है उस इंडिकेटर का नाम है "Support Resistance Channel" इसे आप अवश्य यूज कीजिए।

support-and-resistance-level-analysis-hindi-mePin

Nifty50  में सपोर्ट और रेजिस्टेंस क्या होता है?

हम सभी ट्रेडर्स को पता है nifty50 के बारे में निफ़्टी 50 एक जाना माना इंडेक्स है जिस पर हम ट्रेडिंग कर सकते हैं|

निफ्टी में वीकली और मंथली यह दोनों एक्सपायरी अवेलेबल है….. सबसे पहले ट्रेडिंग करने के कुछ समय पहले वहां पर राउंड नंबर पर कुछ जोन हमें ड्रॉ करने हैं राउंड नंबर जैसे कि मानो 17000 ,17250, 17500, 17750, 18000

 इसी के साथ कुछ राउंड पर हमें थोड़ा भी रखना है जैसे कि 17000 के ऊपर 50 पॉइंट 17000 के नीचे 50 पॉइंट्स

तो हमारा जो 16950 से 17050 जब कभी भी प्राइस इन में से reversal देगी  उस वक्त हम ट्रेड  कर सकते हैं|

support-and-resistance-level-analysis-hindi-mePin
sharemarkettime.com
support-and-resistance-level-analysis-hindi-mePin

1) पिछले दिन के High और Low आज के दिन के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं।

2) बाजार अधिकांश समय राउंड नंबर पर काम करता है, जबकि FII'S के सॉफ्टवेयर सक्रिय रूप से राउंड नंबर पर ऑर्डर देता है।
राउंड नंबर 17000

17000+50=17050

17000-50=16950

Bank nifty में सपोर्ट और रेजिस्टेंस क्या होता है?

हम सभी ट्रेडर्स को पता है Bank Nifty के बारे में Bank nifty एक जाना माना इंडेक्स है जिस पर हम ट्रेडिंग कर सकते हैं|

Bank Nifty में वीकली और मंथली यह दोनों एक्सपायरी अवेलेबल है|

सबसे पहले ट्रेडिंग करने के कुछ समय पहले वहां पर राउंड नंबर पर कुछ जोन हमें ड्रॉ करने हैं राउंड नंबर जैसे कि मानो 39000 ,39250, 39500, 39750, 40000

इसी के साथ कुछ राउंड पर हमें थोड़ा भी रखना है जैसे कि 39000 के ऊपर 50 पॉइंट 39000 के नीचे 50 पॉइंट्स तो हमारा जो 38950 से 39050 जब कभी भी प्राइस इन में से reversal देगी  उस वक्त हम ट्रेड  कर सकते हैं|

Advanced Support & Resistance Methods

  • चार्ट में बने कैंडलस्टिक पैटर्न के  Previous high/low को भी Support/Resistance की तरह इस्तेमाल किया जाता है।
  • Uptrend/Downtrend की Neckline को Support/Resistance की तरह इस्तेमाल किया जाता है।
  • Moving Averages Support/Resistance की तरह इस्तेमाल किया जाता है।
  • दो कैंडल्स के भींच की गॅप को Support/Resistance की तरह इस्तेमाल किया जाता है।
  • बड़ी Green/Red candles Median को Support/Resistance की तरह इस्तेमाल किया जाता है।
  • VWAP Support/Resistance की तरह इस्तेमाल किया जाता है।

FAQ - Frequently Asked Questions

1) Support and Resistance Level Analysis के लिए कोनसा indicator इस्तेमाल होता है ?

Fibonacci levels सबसे अच्छा और ट्रेडर्स का पसंदीदा indicator माना जाता है।

२) Support and Resistance Level Analysis के लिए टॉप 8 indicator

TradingView में  दिए गए इंडीकेटर्स का इस्तेमाल ज्यादा से ज्यादा ट्रेडर्स करते है
RSI Overbought/Oversold Indicator.
S&R Zone Signals Indicator.
Volatility
Session Indicator.
Dynamic Support & Resistance Indicator.
Dynamic Structure Indicator.
MA Zones Indicator.
Colored EMA Indicator.
Trading Session Indicator.

3) सपोर्ट लेवल क्या होता है?

सपोर्ट लेवल यानि चार्ट पर एक ऐसा पॉइंट होता है,जहा से शेयर की प्राइस बढ़ने का अनुमान होता है|
इसे ट्रेडर को ढूंढ़कर ट्रेडिंग डिसिशन लेना होता है| सपोर्ट लेवल के थोड़ा निचे स्टॉपलॉस लगाना होता है|

4) शेयर बाजार में प्रतिरोध क्या है?

शेयर बाजार में प्रतिरोध को ही रेजिस्टेंस कहा जाता है|

5) पहले कैसे पता करें किसी शेयर का प्राइस ऊपर जाएगा कि नीचे?

यदि चार्ट पर बुलिश पैटर्न बन रहा है तो शेयर की प्राइस बढ़ने का अनुमान है और यदि चार्ट पर बेयरिश पैटर्न बन रहा है तो प्राइस घटनेका अनुमान लगाया जा सकता है|


6) शेयर बाजार में s1 और r1 क्या है?


s1 का अर्थ होता है सपोर्ट और r1 का अर्थ होता है रेजिस्टेंस| यह pivot theory में यूज़ किए जाने वाला कन्सेप्ट है|

Conclusion

Support and Resistance Level Analysis के इस पोस्ट में हमने शेयर बजारमे Support and Resistance Level का क्या महत्व है ये जाना।

जब भी कोई Beginner शेयर बाजार में शुरुवात करता है उसे टेक्निकल एनालिसिस के साथ साथ ट्रेडिंग स्ट्रैटर्जीएस के जानकारी जरुरी है।

शेयर बाजार में निवेश करने वाले लोग मानते है की Support and Resistance Level Analysis ही प्रभावी जरिया है प्रॉफिट कमानेका।

इस पोस्ट में हमने देखा है की सपोर्ट और रेजिस्टेंस क्या होता है और कैसे काम करता है। इसी के साथ हमने ये भी जाना की Support और Resistance के दौरान मार्केट में करने वाले लोगोकी क्या Psychology होती है।

उम्मीद है आपको ये बाते रोचक लगी होंगी| (Support and Resistance Level Analysis)

Leave a Comment

Share to...