इंट्रा डे ट्रेडिंग नियम: 8 Best Intraday Trading Rules In Hindi [2024]

Table of Contents

Intraday Trading Rules: की बात करे तो हर कोई अपनी अलग जानकारी देने लगता है लेकिन

Share Market के बदलते रंगोंको बहुत बारीकी से देखने वाले विशेषज्ञ कुल 8 सबसे बेहतर और

मुलभुत नियम बताते है।


इंट्रा डे ट्रेडिंग नियम के इस पोस्ट में हम इन्ही 8 मुलभुत नियमो पर चर्चा करेंगे।

हर कामयाब आदमी के जीवन मे एक दिनचर्या की नियमावली होती है जैसे की सुबह उठणे का टाइम

नाष्टे का टाइम खाने पीने का टाइम काम का टाइम और रात को नींद का टाइम आदि

उसी तरह जब बात आती है इंट्राडे ट्रेडिंग की तब हर ट्रेडर को जरुरत है कुछ नियम बनाने की | ट्रेडिंग से

पैसा बनाने के लिए इंट्राडे ट्रेडिंग के 8 मूलभूत नियम (Intraday Trading 8 best rules In Hindi ) बताए जा रहे हैं|

यह नियम को फॉलो करके आप जरूर सक्सेसफुल Intraday Trader बन सकते है यह हम आपको शाश्वती दे सकते है |

 इंट्राडे ट्रेडिंग मे जादा तर लोक खुद का  पैसा गवाते है सौ मे से नब्बे प्रतिशत लोक  पैसा गवाते है जब

की दस प्रतिशत लोक सक्सेसफुल बन पाते है यदि आपको समजना है कि दस प्रतिशत जो सक्सेसफुल लोग होते है|

उनकी दिनचर्या इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए क्या होती है तो आपको इंट्राडे ट्रेडिंग के 8 मूलभूत नियम (Intraday Trading 8 best rules In Hindi ) जरूर पढ़ने की आवश्यकता है | 

इंट्रा डे ट्रेडिंग नियम  01 –ट्रेडिंग योजना बनाये (trading plan)

इंट्रा डे ट्रेडिंग नियम  02 – लक्ष्य प्राप्ती के बाद  ट्रेडिंग बन्द कर के अपने दूसरे कामों में लग जाए  |

इंट्रा डे ट्रेडिंग नियम  03 –  Risk Management  को समझ कर उसका पालन करें |

इंट्रा डे ट्रेडिंग नियम  04 - पैसा उधार लेकर ट्रेडिंग ना करें |

इंट्रा डे ट्रेडिंग नियम  05 - माकैट  साइड वेज़ या कंफ्यूज लग रहा हो तब Stoploss समझदारी से लगाए और Target को छोटा ही रखिये।

इंट्रा डे ट्रेडिंग नियम  06 - पहला ट्रेड 9.45 बजे के बाद ही लें।

इंट्रा डे ट्रेडिंग नियम  07 -तेजी से नुकसान की वसूली करने की कोशिश ना करे | 

इंट्रा डे ट्रेडिंग नियम  08 -ट्रेडिंग टिप्स से दूर रहे |

OPEN DEMAT ACCOUNT WITH ANGLEONE FOR BETTER TRADING EXPERIANCE

इंट्रा डे ट्रेडिंग नियम  01 –ट्रेडिंग योजना बनाये (trading plan)

हर ट्रेडर को जरुरत होती है ट्रेडिंग योजना की जो की अधिकांश लोगो में नहीं होती | यह कैसे काम करती है विस्तार से देखेंगे,

ऐसे कई लोग होते है जो सोचते हैं कि बाजार सुबह शुरू होते ही 9 :15 को अपनी किस्मत आजमाने के लिए ट्रेडिंग करना शुरू कर देते हैं।

यह बहुत गलत बात है। वास्तव में ट्रेडिंग एक कठिन काम है।

  ट्रेडिंग के लिए स्टॉक्स की एक Watchlist मार्केट खुलने से पहले तैयार कर लेनी चाहिए और मार्केट खुलने के बाद ट्रेडर्स को सिर्फ उतने स्टॉक्स पर फोकस करना चाहिए जितने स्टॉक्स को उन्होंने अपनी Watchlist में रखा है।

  ऐसे स्टॉक ट्रेडर्स चार्ट का अध्ययन करके चुन सकते हैं | 

आपके Trading Setup में आने के बाद ही ऐसे शेयरों में Entry करना जरूरी है।यदि सेटअप न बना हो तब एंट्री नहीं लेनी है | 

इसी तरह, ट्रेडिंग  करने से पहले, ट्रेडिंग में शामिल जोखिम और मुनाफावसूली के स्तर को पहले ही तय कर लेना चाहिए।

  यदि आपके पास कोई ट्रेडिंग योजना नहीं है और आप केवल भाग्य पर दांव लगाने की सोच रहे हैं, तो आप कभी 

भी ट्रेडिंग में सफल नहीं बन पाओगे।

यदि आप भाग्य के भरोसे ट्रेडिंग करते हैं, तो यह निश्चित है कि आप बाजार को नुकसान के साथ छोड़ देंगे | 

इंट्रा डे ट्रेडिंग नियम  02 – लक्ष्य प्राप्ती के बाद  ट्रेडिंग बन्द कर के अपने दूसरे कामों में लग जाए  |

 इंट्राडे ट्रेडर का सबसे बडा दुश्मन है अति ट्रेडिंग जिसे हम ओव्हर ट्रेडिंग (Overtrading) भी कहते है |

 ओव्हर ट्रेडिंग एक सायकॉलॉजिकल इशू आहे जिसमे इन्सान प्रॉफिट आने के बाद और ज्यादा प्रॉफिट के लिए ट्रेड करता है |

और यदि लास हुआ तो लॉस रिकव्हर करणे मे लगा रहता है और लॉस रिकव्हर करने के चक्कर में

और जादा लॉस मे जाता है हाय ट्रेडर को इन चीजो से बचणा चाहिये और लक्ष प्राप्ति के बाद ट्रेडिंग बंद

करके दुसरे कामे लग जाना चाहिए |

 एक बात याद रखिए ट्रेडिंग यह हम जीने के लिए करते है ट्रेडिंग मतलब ही जीवन ऐसा समझने की गलती ना करे|

इंट्रा डे ट्रेडिंग नियम  03 – Risk Management  को समझ कर उसका पालन करें |

 रिस्क मॅनेजमेंट एक ऐसा टूल है जिसकी मदत से हम हमारा लॉस जादा होने से हम खुद को बचा सकते है |

 प्रॉपर रिस्क मॅनेजमेंट करके ही सक्सेसफुल बना है |

 इस नियम के मुताबिक अगं सोचा जाये तो हमे उतना ही रिस्क लेना है जितना हम भूल सकते है

रिस्क्लो उतना भूल सको जितना

 कई लोक जल्दी पैसा बनाने के चक्कर मे आपणा रिस्क भी बढाते है और रिस्क बढाने के मार्केट

विपरीत दिशा मे जाने से भारी नुकसान उठाना पडता है|

 इस नियम के अनुसार रिस्क रिवार्ड रेशो एक अतुपात होता है जिसमे ट्रेडर किसी ट्रेड में जादा से ज्यादा

प्रॉफिट कितना लेना है और जादा से ज्यादा लॉस कितना लेना है इसका डिसिजन लेता है|

समझ लीजिए आज आपका हररोज दिन का टारगेट 1000 Rs कमाने का है. यदि आज आप 10 बार ट्रेड करते हैं|

तो आपको प्रत्येक ट्रेड में 100 Rs कमाना है . और यदि  आप 5 बार ट्रेड करते हैं तो आपको प्रत्येक ट्रेड में 250 Rs कमाना होगा|

प्रॉफिट की तरह आप अपना loss तय कर लीजिये कि एक trade में आपको कितना मैक्स लॉस लेना हैं | 

मान लो – एक ट्रेड में आप केवल 50 Rs maximum loss लेना चाहते हैं और एक ट्रेड में minimium profit 100  रुपये लेना चाहते हैं.|

तो ऐसे में अगर आप total 10 बार ट्रेड करते हैं जिसमें से 7 बार आपको नुकसान होता है और केवल 3 बार प्रॉफिट होता है | 

तो भी 7×50 = 350 Rs आपको loss हो सकता है |  

और 3×150 = 450 Rs आपको profit हो सकता है | 

इसका अर्थ आपको 450–350 = 100 Rs प्रॉफिट हो सकता है।

यह सिर्फ एक example है समझने की बात यह है कि यदि आप इस प्रकार से अपने Risk  को Manage करेंगे तो 

इंट्राडे ट्रेडिंग से  अच्छा खासा profit daily कमा पाएंगे ।

नियम  04 -पैसा उधार लेकर ट्रेडिंग ना करें |

 कइ बार लोक जल्दी पैसा बनाने की चक्कर में पैसा बँक से या किसी रिश्तेदार से या दोस्त से उधार भी लेते है 

दुर्भाग्यवश अगर उनका ट्रेडिंग में नुकसान हो जाता है तो यह पैसा ब्याज के साथ चुकाना पडेगा ज्यो कि बडा कठीण काम होगा |

 इस कारण जितना नुकसान आप किसी परेशानी के उठा सकते हो उतनाही जोखीम लेना चाहिये |

नियम  05 - माकैट  साइड वेज़ या कंफ्यूज लग रहा हो तब Stoploss समझदारी से लगाए और Target को छोटा ही रखिये ।

इंट्रा डे ट्रेडिंग नियमPin

इंट्रा डे ट्रेडिंग नियम

यह बैंक निफ़्टी का चार्ट है। चार्ट पर  देखने से आपको समज आएगा की बैंक निफ़्टी 

का Downtrend  कमजोर पड़ रहा है और वह sideways हो रहा है। RSI में 

diversion बन रहा है। तो ऐसे समय में बड़े Target के बारे में सोचना नहीं चाहिए। 

जब कन्फर्म हो जाए के अब ट्रेंड बदल चूका है तभी  बडे टारगेट के लिए सोचना 

चाहिए।

इंट्रा डे ट्रेडिंग नियमPin

इंट्रा डे ट्रेडिंग नियम

यदि बैंक निफ़्टी इस रेजिस्टेंस को तोड़ता है तब अच्छी मूवमेंट दिखा सकता है क्योंकि यही से RSI

diversion दिखा रहा है तब Trend  के बदलने का इरादा लग रहा है।यह बन गया एनालिसिस जिसमे आपको किसी Trading Setup की जरूरत नहीं है। 

जब कभी भी मार्केट 2 -3  दिनतक  लगातार ऊपर या निचे जाता है तब  फिर वो थोड़ा  थम  जाता है या हम उसे रेस्ट करना कह सकते है इस कारन वो साइड वेज़ हो जाता है|

मार्केट जब फिर से ऊपर या निचे का ट्रेंड continue 

करने वाली हो तब ट्रेडर्स को फसाता है। तो जब तक आम ट्रेडर्स  कंफ्यूज नहीं होते तब तक मार्किट में बड़े ट्रेडर्स पैसा नहीं बना पाएंगे ।

इंट्रा डे ट्रेडिंग नियम  06 - पहला ट्रेड 9.45 बजे के बाद ही लें।

 इंट्राडे मे सबसे ज्यादा नुकसान देने वाला कारन बाजार खुलते ही मार्केट मे ट्रेडिंग सुरू करणा 

मार्केट खोलने के बाद 30 मिनिट बहुत volatile होता है इस कारण से बहुत सारे स्टॉप लॉस हिट 

होते है |

 और यदि इस कारण स्टॉप लॉस हिट होता है तो यह दिनभर तणाव का कारण बन जाता है |

 इस कारण से ट्रेड को सोच समझ कर मार्केट ओपन होने के थोडी देर बाद लेना यह सही बात 

होगी |

इंट्रा डे ट्रेडिंग नियम  07 -तेजी से नुकसान की वसूली करने की कोशिश ना करे

ट्रेडिंग में प्रॉफिट और लॉस दोनों की सम्भावनाये बनी रहती है |

इसे याद रखना चाहिए की जिस दिन लॉस हो उसे कभी भी उसी दिन रिकवर करने की कोशिश ना करे ऐसा करने से आप और ज्यादा लॉस में जा सकते है | 

इंट्रा डे ट्रेडिंग नियम  08 -ट्रेडिंग टिप्स से दूर रहे |

 हमारा यह अनुभव है की जब भी बिगिनर डिमॅट अकाउंट ओपन करता है तो उस व्यक्ति का नंबर व्हायरल हो 

जाता है | और ट्रेडिंग टिप्स के लिए उसे कॉल आना शुरू हो जाते है इस तरह के फोन कॉल मे आपको इंट्राडे से 

पैसे कमाने का टिप्स या तरीका बताया जाता है और उसके बदले कुछ fees मांगी जाती है नया इंसान ट्रेडिंग टिप्स लेने के लिए पैसे खर्च करके सर्विस भी लेता है|

लेकिन कुछ समय बाद ना तो सर्विस असरदार होती है नाही मार्केट टिप्स इस तरह की टिप्स से आपको बडे लॉस का सामना करना पड सकता है इस कारण आप खुद का रिसर्च 

करके खुद स्टडी करके ट्रेडिंग करना सही रहेगा |

Also Read :-

FAQ-FREQUENTLY ASKED QUESTIONS

1) इंट्रा डे ट्रेडिंग का सबसे महत्वपूर्ण नियम क्या है?

इंट्राडे ट्रेडिंग में सबसे महत्वपूर्ण नियम यह है की मानसिक संतुलन को बनाये रखना | ज्यादा पैसे के लिए रिस्क लेकर ट्रेड करने से मानसिक संतुलन बिघड सकता है

2) इंट्रा डे ट्रेडिंग से पैसे कैसे कमाएं ?

बिना संदेह इंट्राडे ट्रेडिंग त्वरित पैसा कमाने का एक साधन है लेकिन 
आपको उन स्टॉक का चयन करना है जिनमें Liquidity बहुत ज्यादा है।

इसके साथ , बाजार Trading Plan बनाएं और ध्यान से Entry- Exit करे और हमेशा नुकसान की संभावना को कम करने के लिए Stoploss का उपयोग करे|

3) डे ट्रेडिंग के लिए कोनसा समय अच्छा रहेगा?

मार्केट में मुख्यता तीन सेशन  में काम होता है 
1.सुबह 9:15 से 11:इसे मॉर्निंग सेशन भी कहा जाता है,इस सेशन में मार्केट में तेज हरकत दिखाई देती है| 

2. सुबह 11  बजे से दोपहर 12:30 :इस सेशन में मार्केट एक ही रेंज में रहता है | 
3. दोपहर 12:30 से दोपहर 3 : इस सेशन में मार्केट विदेशी बाजारों के ओपन होने के चलते तेज हरकत दिखाता है | 
 
कई बार मार्केट दोपहर 12:30 से दोपहर 3 के बिच में मूवमेंट देता है इस समय आने वाली मूवमेंट शाश्वत होने के साथ साथ एक डायरेक्शन में होती है|

क्युकी विदेशी बाजार ओपन होने के चलते विदेशी निवेशक मार्केट में एक्टिव होते है | 

4) डे ट्रेडिंग के लिए कौन सी टाइमफ्रेम बेस्ट है?

इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए ५ मिनट का TIMEFRAME सबसे बढ़िया है,बड़े TIMEFRAME से छोटे TIMEFRAME पर चार्ट एनालिसिस करना यह सबसे अछि रणनीति है इसे MULTITIMEFRAME एनालिसिस भी कहा जाता है |

5) इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए कौन सा Formula Best है?

Pivot Point की मदद से ट्रेडिंग करना सबसे अच्छा ट्रेडिंग फार्मूला है|  इस फॉर्मूला से पिछले दिन के प्रदर्शन के आधार पर शेयर की किंमत का पूर्वानुमान लगता है।

निष्कर्ष

इंट्रा डे ट्रेडिंग नियम (Intraday Trading 8 best rules In Hindi) इस ब्लॉग में हमने देखा की इंट्राडे ट्रेडिंग के वक्त महत्वपूर्ण नियम क्या होते है | आप यदि इन नियमोंका पालन करोगे तो जरूर कामयाब ट्रेडर बनोगे यह हमारा पक्का विश्वास है उम्मीद है आपको यह जानकारी अछि लगी होगी|

Leave a Comment

Share to...